Skip to main content

आम लोगों के लिए खुला मुगल गार्डन, ऑनलाइन बुकिंग से मिलेगी एंट्री

राष्ट्रपति भवन परिसर में स्थित मुगल गार्डन आम लोगों के लिए 13 फरवरी से खोल दिया गया है। आप सोमवार को छोड़कर 21 मार्च तक प्रतिदिन सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे के बीच मुगल गार्डन की सैर कर सकते हैं।


कोरोना को देखते हुए सिर्फ ऑनलाइन बुकिंग कराने वाले लोगों को गार्डन में प्रवेश की इजाजत मिलेगी। आप वहां टिकट लेकर एंट्री नहीं कर सकते। आप पहले से ऑनलाइन बुकिंग इस लिंक को क्लिक कर करा सकते हैं-
https://rashtrapatisachivalaya.gov.in
या
https://rb.nic.in/rbvisit/visit_plan.aspx


मुगल गार्डन में सैर के लिए सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे के बीच एक-एक घंटे के सात अग्रिम बुकिंग स्लॉट उपलब्ध हैं। आप शाम 4 बजे के बाद एंट्री नहीं कर सकते। हर स्लॉट में ज्यादा से ज्यादा 100 लोगों को प्रवेश दिया जा सकता है।


मुगल गार्डन में प्रवेश के दौरान आपको को मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का ध्यान रखना जैसे कोरोना प्रोटॉकॉल्स का पालन करना होगा। एंट्री के समय आपको थर्मल स्क्रीनिंग से होकर गुजरना होगा। बीमार लोगों को यहां आने से बचना चाहिए।


मुगल गार्डन में एंट्री नॉर्थ ऐवेन्यु के पास राष्ट्रपति संपदा के गेट नंबर 35 से होगी। सैर के दौरान आप अपने साथ किसी भी तरह की पानी की बोतल, ब्रीफकेस, हैंडबैग, पर्स, कैमरा, रेडियो-ट्रांजिस्टर, डिब्बे, छाता, खाद्य सामग्री लेकर न जाएं। राष्ट्रपति भवन में निर्धारित स्थानों पर हैंड सेनिटाइजर्स, पेयजल, शौचालय, प्राथमिक चिकित्सा जैसी सुविधाएं प्रदान की जाती हैं।


ब्लॉग पर आने और इस पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद। अगर आप इस पोस्ट पर अपना विचार, सुझाव या Comment शेयर करेंगे तो हमें अच्छा लगेगा।

Comments

Popular posts from this blog

Contact Us

दिल्ली के इस मंदिर में तुलसीदास जी ने की थी हनुमान चालीसा की रचना

राष्ट्रपति भवन की सैर करना चाहते हैं, ऐसे कराएं बुकिंग

About Us

भूतों का गढ़: भानगढ़

खंडहर में तब्दील होता राजनगर का राज कैंपस

मिथिला की सांस्कृतिक राजधानी दरभंगा में है पर्यटन की अपार संभावनाएं

ये हैं नोएडा सेक्टर 18 मार्केट के सात सबसे बढ़िया शाकाहारी रेस्टोरेंट

दिल्ली से वीकेंड यात्रा- घूम आइए धर्मक्षेत्र कुरुक्षेत्र, जहां भगवान श्रीकृष्ण ने दिए गीता के उपदेश

दिल्ली के दिल कनॉट प्लेस के पास है अग्रसेन की बावली, गए हैं या नहीं?